Crime

उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा जिन्हेँने सदुओं को भीड़ के हवाले हो जाने दिया: उमा भारतीयों-ए-केस-से-पंजीकृत-खिलाफ-उन-पुलिसकर्मियों-जो-साधु-हो-के-सौंपने वाले -तो-भीड़ कहती है uma bharti nodtg | bhopal – समाचार हिंदी में


उमा भारती ने कहा कि उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगेहेन्ने साधुओं को भीड़ के हवाले हो जाने दिया (फाइल फोटो)

उमा भारती ने कहा कि जिन पुलिसकर्मियों का हाथ पकड़कर असहाय साधु जीवन रक्षा की गुहार लगा रहे थे, उन पुलिसकर्मियों ने उन्हें बचाने के बजाय भीड़ के हवाले हो जाने दिया और वह स्वयं को छुड़ाकर अलग हो गए। वे पुलिसकर्मी भी हत्या (हत्या) के आरोपी हैं।

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने मंगलवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मांग की है कि राज्य के पालघर में भीड़ द्वारा साधुओं की हत्या (हत्या) के मामले में उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी हत्या का मामला दर्ज करें, जिन्होंने उन्हें भीड़ के हवाले होने के बजाय बचाया। उमा ने ठाकरे को आज लिखित पत्र में कहा है, ‘पालघर में भीड़ द्वारा साधुओं की हत्या हुई है, यह कानून की दृष्टि में जघन्य अपराध और धर्म की दृष्टि से महापाप है। आप महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री हैं। आपने स्वयं यह कृत्य नहीं किया है, लेकिन आपके द्वारा शासित राज्य में यह जघन्य कृत्य हुआ है। इसलिए सभी दोषों को दंडित करना होगा। ‘

उन्होंने कहा, ‘जिन पुलिसकर्मियों का हाथ पकड़कर वह असहाय साधु जीवन रक्षा की गुहार लगा रहे थे, उन पुलिसकर्मियों ने उन्हें बचाने के बजाय उन्हें भीड़ के हवाले हो जाने दिया और वह स्वयं को छुड़ाकर अलग हो गए। वे पुलिसकर्मी भी हत्या के आरोपी हैं। उन पर भी भादंवि की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए। अगर वे चाहते तो हवा में फायर करके उन साधुओं को बचा सकते थे। ‘

साधुओं के लिए करूंगी प्रार्थना

उमा ने आगे लिखा कि मेरा आपसे पूछना है कि आपको उन पुलिसकर्मियों सहित सभी हत्यारों को कठोर दंड देना ही होगा, अन्यथा आप स्वयं भी इस पाप के घटना करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं आज प्रायोजन के लिए भोपाल में अपने आवास पर ही उपवास कर रहा हूं और मैंने साधु समाज से भी अपने-अपने स्थान पर रहते हुए एक दिन का उपवास करने की अपील की है।’ उमा ने कहा कि आप भी कर सकते हैं कि अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए लगा लॉकडाउन जब भी खत्म हो जाएगा तो मैं उस जगह पर अवश्य जाऊँगी और थोड़ी देर वहाँ रहकर निर्दयता से मारे गए उन साधुओं के लिए प्रार्थना भी करूंगी और उन्हें अपने देश और समाज के लिए क्षमा मांगूगी। उमा ने कहा, ‘मैं आप (उद्धव ठाकरे) जैसे संवेदनशील व्यक्ति से राज्य में हुई इस महापातक कार्य के लिए कठोर कार्रवाई का अनुरोध करती हूं। आप विश्वास करते हैं कि आप ऐसा करेंगे। ‘क्या मामला है

गौरतलब है कि 16 अप्रैल को मुंबई के दो संतों सहित तीन लोग कार से गुजरात के सूरत जा रहे थे, तभी रास्ते में पालघर में ग्रामीणों ने थ होने के संदेह पर उनकी पीट-पीट हत्या कर दी। इस मामले में 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़ें: पालघर माब लिंचिंग केस: अमित शाह ने उद्धव ठाकरे से पूछा रिपोर्ट, 2 पुलिसवाले सस्पेंड

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए भोपाल से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 21 अप्रैल, 2020, 6:04 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link