Crime

शिवराज ने अपने मंत्रियों को कोरोना के खिलाफ फाइट के लिए दिए सबूत टास्क | bhopal – समाचार हिंदी में


भोपाल।शिवराजगढ़ (शिवराज कैबिनेट) में सभी पांच मंत्रियों को शामिल करने के लिए बुधवार को उनके विभागों का बंटवारा कर दिया गया है। सभी मंत्रियों को अपने विभागों के साथ साथ कोरोना की ड्यूटी भी करनी होगी। कोरोना आपदा नियंत्रण के हिसाब से काम का बंटवारा किया गया है। इस काम में अधिकारियों की एक टीम इनकी मदद करेगी। पांचों कलाकारों ने विभाग के काम के साथ कोरोना नियंत्रण के लिए भी काम शुरू कर दिया है।

नरोत्तम मिश्रा

नरोत्तम मिश्रा को गृह और स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी दी गई है। इसके साथ वे राज्य स्तर पर कोरोना से आरक्षण का प्रबंधन और समन्वय का काम भी देखते हैं। इसमें कोरोना से सामना करने के लिए उपकरण, दवा, अस्पताल प्रबंधन, डेवलपर सेंपलिंग, टेस्टिंग और इलाज की व्यवस्था शामिल है। प्राथमिक अस्पतालों, समाजसेवी संस्थाओं के साथ को-ऑर्डिनेशन का जिम्मा भी उनका है। जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से चर्चा की जिम्मेदारी भी नरोत्तम मिश्रा को दी गई है

सपोटिंग ऑफिसर टीमनरोत्तम मिश्रा की मदद के लिए तीन अधिकारियों की टीम लगाई गई है। इसमें स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान, चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव संजय शुक्ला और आयुष विभाग के प्रभारी प्रमुख सचिव महेश अग्रवाल शामिल हैं।

तुलसी सिलावट

तुलसी सिलावट को जल संसाधन विभाग के साथ स्कूल कॉलेजों के छात्रों के लिए ऑफ़लाइन श्रेणियों का संचालन और उससे संबंधित कार्य देखने की ज़िम्मेदार परीक्षा शामिल है। साथ ही मध्य प्रदेश के जो छात्र या मजदूर प्रदेश के बाहर फंसे हैं उनके भोजन और दवा की व्यवस्था की जिम्मेदारी भी तुलसी सिलावट खुली है। मुख्यमंत्री प्रवासी मजदूर सहायता योजना के तहत मजदूरों को सहायता 1000 की सहायता राशि उनके बैंक खातों में भेजने की समीक्षा भी तुलसी सिलावट करेंगे।

सपोटिंग ऑफिसर टीम

तुलसी सिलावट की मदद के लिए अधिकारियों की जो टीम लगाई गई है इसमें केंद्रीय कर विभाग के अपर मुख्य सचिव आईसीपी केशरी, उच्च शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई, स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी और आदिम जाति कल्याण विभाग की प्रमुख सचिव हैं। दीपाली रस्तोगी शामिल हैं।

लोअर पैट

कृषि मंत्री कमल पटेल को विभाग के काम के साथ प्रदेश में चल रही गेहूं खरीद, किसानों को फसल के समर्थन मूल्य का भुगतान समय पर करने और उसकी समीक्षा काम दिया गया है। इसके साथ ही जिन क्षेत्रों में फसलों की कटाई का काम बाकी है वहां हार्वेस्टर ट्रेक्टर, भूसे की व्यवस्था भी करवाना उनकी जिम्मेदारी होगी। अगीली खरीफ फसल के लिए कृषि उपकरण, खाद बीज और उपलब्धता के बारे में भी कमल पेट काम देखना। जिलों के क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से चर्चा करते हैं और उनके द्वारा तैयार रणनीति के लिए निर्णय के कार्यान्वयन की समीक्षा करेंगे।

सपोटिंग ऑफिसर टीम

कमल पटेल की मदद के लिए बनायी गयी टीम में कृषि आयुक्त के के सिंह, कृषि विभाग के प्रमुख सचिव अजीत केसरी, सहकारिता विभाग के प्रमुख सचिव उमाकांत उमराव और खाद्य विभाग के प्रमुख सचिव शिव शेखर शुक्ला शामिल हैं।

गोविंद राजपूत

गोविंद राजपूत को अपने विभाग के साथ ये भी देखना होगा कि कोरोना के दौरान सरकारी राशन की सप्लाई देखना होगा। जिलों में समाजसेवी संगठनों व्यापार उद्योग और कृषि क्षेत्र के अलावा धर्मगुरुओं से संवाद बनाने का जिम्मा भी उन्हें दिया गया है

मीना सिंह मांडवे

आदिम जाति कल्याण विभाग की मंत्री मीना सिंह को कोरोना के लिहाज से प्रदेश में सभी सुरक्षा योजनाओं के तहत पेंशन हितग्राहियों के खातों में भेजने की जिम्मेदारी दी गई है। जिम्मेदारी केवल संबल योजना की जिम्मेदारी होगी। सीनियर सिटीजन दिव्यांगों और कमजोर वर्ग के लोगों को किसी तरीके की परेशानी ना हो इसका काम भी मीना सिंह मांडवे को दिया गया है। उनंदूपत्ता तुकिंग और लघु वन उपज की प्राप्ति की सहायक टीम में भी शामिल हैं।

सपोटिंग ऑफिसर टीम

मीना सिंह की मदद के लिए जिन अधिकारियों की टीम लगाई गई है उसमें सामाजिक न्याय विभाग के प्रमुख सचिव जे एन कंसोटिया, वन विभाग के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल और श्रम विभाग के प्रमुख सचिव अशोक शाह शामिल हैं।

ये भी पढ़ें-

भोपाल में 22 पुलिस जवानों सहित 44 कोरोना वॉरियर्स ठीक वाले घर लौटे

श्योपुर में कोरोनायोग्य रोगी की स्क्रीनिंग के लिए गयी टीम पर हमला, एएसआई घायल





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *