दिलनाली पहुंचे CM शिवराज, त्यागी में शामिल होने वाले नए नामों पर लग सकता है हाईकमान की मुहर! | एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान दिल्ली पहुंचे बीजेपी हाईकमान के आला अफसरों के साथ नोकझोंक | bhopal – समाचार हिंदी में
Madhya Pradesh

सीएम शिवराज सिंह चौहान दिल्ली पहुंचे, बीजेपी हाईकमान के साथ चर्चा

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान) आखिरकार दिल्ली पहुंच गए हैं। कई बार दिल्ली यात्रा बनने और रद्द होने के बाद 28 जून को दोपहर बाद वह दिल्ली के लिए रवाना हुई। जबकि मुख्यमंत्री के साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत भी दिल्ली दौरे पर गए हैं। दिल्ली में तीनों नेताओं की केंद्रीय नेतृत्व के साथ अलग-अलग मुलाकातों के दौर भी शुरू हो गए हैं। माना जा रहा है कि दिल्ली में ही सागर में शामिल होने वाले नामों पर अंतिम मुहर लगेगी। मुख्यमंत्री के साथ बाकी दोनों नेता भी 28 जून की रात दिल्ली में ही रुकेंगे और 29 जून को भोपाल वापस लौटेंगे। सीएम शिवराज सिंह चौहान के भोपाल वापस लौटने के बाद काल विस्तार की अटकलें लगाई जा रही हैं। 30 जून को शिवराजगढ़ का विस्तार किया जा सकता है। हालांकि इससे पहले प्रदेश में प्रभारी राज्यपाल की नियुक्ति की जाएगी, क्योंकि मौजूदा राज्यपाल लालजी टंडन बीमार हैं और लखनऊ के एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है।

टलते-टलते बना दौरा

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का दिल्ली दौरा कई बार टल चुका था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को 28 जून को सुबह दिल्ली जाना था। वह दिल्ली से ही छत्तीसगढ़ के लिए होने वाली वर्ग रैली को संबोधित करने वाले थे, लेकिन ऐन वक्त पर इसमें बदलाव हो गए और फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल से ही छत्तीसगढ़ की कक्षा रैली को संबोधित किया वर्ग रैली को भोपाल से संबोधित करने को कहा। कारण से यह माना जा रहा था कि हो सकता है। वह दिल्ली ना जाएं लेकिन कार्यक्रम में फिर बदलाव हुआ और वर्ग रैली के बाद प्रदेश अध्यक्ष के साथ वे दिल्ली रवाना हो गए।

भोपाल में हो गया है मंथन

इससे पहले वल्लभ भवन में हुई सीएम की अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत के बीच मुलाकात में शल्य के नामों को लेकर मंथन किया जा चुका है। क्रिंग में 24 से 25 नाम शामिल हो सकते हैं। बैठक के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि वह श्री के नामों पर चर्चा के लिए जल्द ही दिल्ली जाएंगे, लेकिन वह दिल्ली के बजाय तिरुपति चले गए थे।

मई से जारी किया गया विस्तार की अटकलें हैं

शिवराज काली विस्तार की अटकलें मई के पहले सप्ताह से ही जारी हैं। कयास लगाए जा रहे थे कि मई में ही सुलह का विस्तार हो जाएगा, लेकिन 19 जून को राज्यसभा चुनाव होने की वजह से विस्तार को टाल दिया गया। अब एक बार फिर राज्यसभा चुनाव पूरे होने के बाद यह कहा जा रहा है कि जल्द ही सुलह का विस्तार होगािला में जगह पाने के लिए दावेदारों की भी भोपाल से दिल्ली तक दौड़ जारी है। वर्तमान में शिवराजगढ़ में केवल 5 मंत्री शामिल हैं और कयास लगाए जा रहे हैं कि कालिया में 24 से 25 नए नामों को शामिल किया जा सकता है।

राज्यपाल बीमार हैं

विस्तार विस्तार में वर्तमान में एक समस्या राज्यपाल लालजी टंडन का अस्वस्थ होना है। राज्यपाल वर्तमान में लखनऊ में है और एक निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे हैं। ऐसे में सवाल यह है कि आखिर गवर्नर की मौजूदगी के बगैर विस्तार कैसे होगा। इस बीच खबरें यह भी है कि हो सकता है छत्तीसगढ़ की राज्यपाल को मध्य प्रदेश का अतिरिक्त प्रभार दे दिया जाए और राज्यपाल लालजी टंडन के स्वस्थ होने तक वह प्रभारी राज्यपाल के तौर पर काम करें।

bharatsamachar.tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। खबर सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें ब्रेकिंग सेक्‍शन

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *