Crime

COVID-19: जोश भरने के लिए इंदौर के अस्पताल ने संगीत का सहारा लिया, संगीत की धुन पर ताली बजाते नजर आए मरीज .. | कोविद -19 संदिग्धों की मनोदशा के उत्थान के लिए इंदौर का अस्पताल संगीत चिकित्सा का सहारा ले रहा है | indore – समाचार हिंदी में


कोरोना से तुलना में मनोबल बढ़ाने को संगीत का सहारा ले रहा इंदौर का अस्पताल (प्रतीकात्मक चित्र)

अस्पताल अधीक्षक ने कहा कि म्यूजिक (संगीत) बजने से वॉर्ड में वातावरण सकारात्मक और खुशनुमा बना रहता है और मरीजों के साथ ही अस्पताल के डॉक्टर (डॉक्टर) और पैरामेडिकल कर्मी (पैरामेडिकल स्टाफ) भी उत्साहित रहते हैं।

इंदौर। वैश्विक महामारी (महामारी) कोरोना (कोरोनावायरस) के चलते देश में लगातार हानिकारक होने की संख्या में इजाफा हो रहा है। डॉक्टर्स व स्वास्थ्यकर्मी जी-जान से लोगों की सेवा में जुटे हैं। कोविद -19 (COVID-19) के प्रकोप से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल मध्य प्रदेश के इंदौर (इंदौर) के एक अस्पताल में इस महामारी के संदिग्ध रोगियों (कोरोना संदिग्ध) के वॉर्ड का नजारा कुछ अलग है। ये मरीज इस वॉर्ड में बज रहे सुमधुर गीतों को एक साथ गुनगुनाते नजर आते हैं और इसके दृश्य सोशल मीडिया (सोशल मीडिया) पर वायरल हो रहे हैं। ऐसा ही एक वीडियो बुधवार को सामने आया जिसमें ये मरीज वॉर्ड में बज रहे मशहूर गीत ‘हम होंगे कामयाब …’ को तालियां बजाते हुए एक साथ दोहरा रहे हैं।

संगीत थेरेपी से मनोबल बढ़ रहा है

इस बारे में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (कर्मचारी राज्य बीमा निगम) (ईएसआईसी) के नंद नगर स्थित अस्पताल की अधीक्षक सुचित्रा बोस ने बताया, ‘हमने देखा है कि कोविड -19 के संदिग्ध रोगियों के मन में इस महामारी के बारे में काफी डर है। है। जब तक उनकी जांच रिपोर्ट नहीं आती, तब तक वे भयभीत और बेचैन बने रहते हैं। उन्होंने बताया कि हम दिशा-निर्देशों के अनुसार इन रोगियों को दवाएँ देते हैं। लेकिन हम उनका डर दूर कर मनोबल बढ़ाने के लिए संगीत चिकित्सा (संगीत चिकित्सा) का भी सहारा ले रहे हैं। इसके तहत उनमें भजन और अनिश्चितक सुनाये जा रहे हैं।

अस्पताल अधीक्षक ने कहा कि संगीत बजने से वॉर्ड में माहौल खुशनुमा बना रहता है और मरीजों के साथ ही अस्पताल के डॉक्टर और पैरामेडिकल कर्मी भी उत्साहित रहते हैं। बोस ने बताया कि वर्तमान में ईएसआईसी अस्पताल में कोरोनावायरस के 60 संदिग्ध रोगी हैं, जबकि 15 अन्य लोगों की जांच में इस महामारी से पीड़ित नहीं पाए जाने पर अपने घर लौट आए हैं। उन्होंने बताया कि कोविंद -19 के चेतन रोगियों को योग प्रशिक्षक के जरिये प्राणायाम (श्वसन तंत्र का विशेष व्यायाम) भी सिखाया जा रहा है ताकि उनके फेफड़े मजबूत हो सकें। अधिकारियों ने बताया कि पिछले एक महीने में इंदौर जिले के कुल 923 लोग कोरोनावायरस से हानिकारक पाए गए हैं। इनमें से 52 लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गई है, जबकि 74 मरीजों को स्वस्थ होने पर अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। इंदौर में कोरोना वायरस का पहला मरीज मिलने के बाद से प्रशासन ने 25 मार्च से शहरी सीमा में कर्फ्यू लगा रखा है, जबकि जिले के अन्य स्थानों में सख्त लॉकडाउन लागू है। (इनपुट-भाषा)ये पढ़ें- COVID-19 अपडेट: इंदौर में अब तक 923 पॉजिटिव केस, MP में कोरोना मरीजों की संख्या 1587 हुई

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए इंदौर से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 22 अप्रैल, 2020, 8:22 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link