Crime

LOCKDOWN में लॉक नहीं हुई मानवता: मुश्किल में फंसे लोगों के लिए फरिश्ते बने कोरोना वॉरियर्स- कोरोना वारियर्स मप्र में जरूरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं। bhopal – समाचार हिंदी में


एमपी में कोरोना वॉरियर्स जरूरतमंद लोगों की कर रहे हैं मदद

कोरोना वॉरियर्स डॉ, पुलिस स्टाफ और सफाई कर्मचारी लगातार फील्ड में सक्रिय हैं। वो अपनी ड्यूटी तो कर ही रहे हैं, साथ ही ज़रूरतमंद लोगों को राशन-पानी और तमाम चीजों की मदद कर रहे हैं।

अशोकनगर / सागर।कोविद 19 वायरस ने भले ही लोगों को घरों में कैद कर दिया हो लेकिन इस वायरस का अटैक इंसानियत पर नहीं हुआ। दानव डाउन के दौरान कोरोना वॉरियर्स की इंसानियत की ऐसी तस्वीरें लगातार सामने आ रही हैं। इस बार ये तस्वीरें एमपी के अशोक नगर और सागर से.कोरना से आम जनता को बचाने में लगे कोरोना वैरियर्स ने मानवता और दरियादिली की मिसल पेश कीं।

एमपी के अशोकनगर में रात के अंधेरे में जब एक ठेले पर लाश ढोई जा रही थी। दो बेटे अपने पिता की लाश को हाथ ठेले पर लादकर ले जा रहे थे।पिता की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गयी थी और काफी कोशिश के बाद भी उन्हें शव वाहन नहीं मिल पाया था।

बुरे वक्त में मिले फरिश्ते

इस बुरे वक्त में सड़क पर उन लड़कों को फरिश्ते मिल गए, जिन्होंने मसीहा बनकर एक मुर्दे को इज्जत से विदा किया। अशोकनगर के ईदगाह मोहल्ला के रहने वाले बुजुर्ग दुर्ग प्रसाद श्रीवास्तव को हार्ट अटैक आया था। इलाज के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई।जब अस्पताल से शव वाहन नहीं मिला तो दोनों बेटों ने अपने पिता की डिजाइनरों को चादर में लपेटा और हाथ ठेले पर रखकर घर के लिए रवाना हो गए।पूरे चार किलोमीटर का सफर तय करना था.गांधी नगर पार्क पर ड्युटी कर रहे तहसीलदार इसरार खान और सब इंस्पेक्टर राम शर्मा ने उन्हें रोका था राम शर्मा ने फौरन डायल 100 घुमाया और शव को पुलिस की गाड़ी में पूरे निशान लेकर मान के साथ छोड़ दिया गया।बुधि अम्मा को पहनायीं चप्पल

कोरोना वॉरियर्स की दूसरी तस्वीर सागर से आई। गौरझामर बीपीएल परिवारों को दो महीने का राशन मुफ्त दिया जा रहा था। सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने और राशन का ठीक से वितरण हो इसकी जिम्मेदारी अधिकारियों पर थी। अतभी यहां मौजूद नायब तहसीलदार सुजाता विश्वकर्मा की नज़र एक बुजुर्ग महिला के पैरों पर पड़ी जो तपती दुपहरी, टूटी चप्पल पहनी हुई थी। चप्पल तीन जगह से टूटी थी।चप्पल को बुजुर्ग महिला ने पन्नी के सहारे बांधा रखा था। ये देख कर नाशी तहसीलदार सुजाता का दिल भर आया। उन्होंने फौरन न्यूफलल मंगवाईं और फिर अपने हाथों से इस अम्मा को पहनायीं। राशन वितरण कार्यक्रम में महिला अधिकारी की इस उदारता को देख सभी भावुक हो गए और बुजुर्ग महिला ने नायह तहसीलदार सुजाता विश्वकर्मा को आशीर्वाद दिया।

(अशिंगनगर से समीर द्विवेदी और सागर से रचित दुबे की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-

शिवराज ने अपने मंत्रियों को कोरोना के खिलाफ फाइट के लिए दिया था

श्योपुर में स्क्रीनिंग टीम पर हमला करने वाले आरोपियों पर रासुका में कार्रवाई

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए भोपाल से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 23 अप्रैल, 2020, सुबह 8:42 बजे IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link