Breaking News

महाराज सिंधिया के चरणों में नाथ के मंत्री का साष्टांग

NDIrmkr”gt se fuU dJtr˜gh ytdbl vh hu˜Ju ôxuNl vh ôJtd; fUhlu výkau bkºte Œ‘wöl rmkn ;tubh rmkr”gt se fUu ahKtü bü =kzJ; ŒKtb fUh;u ýY> VUtuxtu – lRo=wrlgt ———————————- mkckr”; Fch – mwŒeb fUtuxo fuU ViUm˜u lu ygtuÆgt bwæu vh htsler; mbtË; fUe- rmkr”gt

ग्वालियर पहुंच पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का रेलवे स्टेशन पर कार्यकर्ता और नेताओं ने फूलमाला पहनाकर जोरदार स्वागत किया । इसी बीच वहा मौजूद कमलनाथ कैबिनेट मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर ने सिंधिया के पैरो में झुककर दंडवत प्रणाम किया जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है । और बीजेपी ने भी इसे मुद्धा बनाकर सिंधिया की चरण वंदना को लोकतंत्र की हत्या बताया है ।

ग्वालियर । राजनीति के इतिहास में हुक्ममरानों की चरणवंदना कोई नई बात नहीं है । बात अगर ग्वालियर के सिंधिया राजघराने की जाए तो यहा दंडवत प्रणाम की आम चीज है जिसके लिए चाहे कोई नेता हो विधायक हो या मंत्री सबकों महाराज के आगे साष्टांग होना ही पड़ता है । लेकिन इस बार कमलनाथ कैबिनेट के मंत्री प्रद्दुमन तोमर ने सबके सामने सिंधिया की चरण वंदना कर बीजेपी को बैठे बिठाए मुद्दा दे दिया है जिससे सियासी गिलियारों में बयानबाजी तेज हो गई है।

बीजेपी ने कहा ये लोकतंत्र की हत्या

नेता प्रतिपिक्ष गोपाल भार्गव ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि ये मंत्री का नहीं बल्कि मंत्रीपद का अपमान है । उन्होने कहा आदर सत्कार का भाव किसी के भी प्रति हो सकता है । लेकिन सार्वजनिक रुप से सबके सामने किसी मंत्री द्वारा किसी नेता के पैर छूना ये किसी व्यक्ति का नहीं बल्कि उस मंत्री के मंत्रीपद का अपमान है, और लोकतंत्र का भी अपमान है।