सिस्टम की चूके का खामियाजा, एक गलत रिपोर्ट से ऐसी परेशान हुई राजगढ़ का परिवार, राजगढ़ परिवार झूठा कोरोना वायरस रिपोर्ट के कारण समस्या का सामना कर रहा है | bhopal – समाचार हिंदी में
Madhya Pradesh

सिस्टम की चूके का खामियाजा, एक गलत रिपोर्ट से ऐसी परेशान हुई राजगढ़ का परिवार

भोपाल। मध्य प्रदेश (मध्य प्रदेश) के राजगढ़ (राजगढ़) जिले के एक नन्हे से दुधमुहे बच्चे को उसकी मां का प्यार दुलार भी नसीब नहीं हो पा रहा है। बेवसी भी ऐसी, क्योंकि डर है कि कहीं कोरोना का संक्रमण माँ अपने लाल को ना दे बैठे। क्योंकि पल-पल रोती बिलखती नन्ही सी जान को ये नहीं पता कि उसके दुनिया में आने से पहले ही यहां कोरोना (COVID-19) नाम के शैतान ने आतंक मचा रखा है। वह इस बात से भी बेखबर हैं कि उसकी मां के अंदर ही ये कोरोनातन आ बैठा भी है या नहीं। लेकिन सिस्टम की डिफ़ॉल्ट का खामियाजा उसकी मां, उसके पिता और खुद मासूम को भुगतना पड़ रहा है।

दर्रा-पास भटक रहा परिवार

राजगढ़ में कोरोना का मामला राजगढ़ का है, जहां 18 अप्रैल को कोरोना का पहला मामला सामने आया था। जीरापुर तहसील के काछीखेड़ा गांव की एक गर्भवती महिला नोट के लिए जिला अस्पताल में भर्ती हुई। महिला ने इसी तरह मासूम को जन्म दिया। फिर महिला को सांस लेने में तब तक हुई तो उसका कोरोना टेस्ट करवाया गया और सैंपल भोपाल भेजा गया। भोपाल से राजगढ़ समाचार पहुंची की महिला की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। इसके बाद गांव को सील करते हुए सभी को घर क्वारेंटाइन कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *