Crime

Statewise coronavirus cases in india till 23 April evening । देश के 32 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में मिले Coronavirus के मरीज, जानिए- कहां हैं कितने मामले



Image Source :
देश के 32 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में मिले Coronavirus के मरीज, जानिए- कहां हैं कितने मामले

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 21 हजार 700 हो गई है। इनमें से 4 हजार 324 लोग ठीक हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है जबकि कुल 686 लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हो चुकी है और एक शख्स को विस्थापित किया गया है। ऐसे में मौजूदा वक्त में कुल 16 हजार 689 मामले ही सक्रिय हैं। यह आंकड़े स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट से लिए गए हैं। 

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, देश के कुल 32 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों में कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। इनमें महाराष्ट्र सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित राज्य है। सिर्फ महाराष्ट्र में ही कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 5652 है। राज्य में कुल 789 लोग ठीक हुए हैं जिन्हें अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई है जबकि कुल 269 लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हो चुकी है।

किस राज्य में कितने मामले?

स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया पहले ऐसे 4 जिले थे जहां कोई केस नहीं आए थे, अब ये संख्या बढ़कर 12 हो गई है। देश में 78 ऐसे जिले हैं जहां पिछले 14 दिनों से कोई केस नहीं आया है। वहीं, MHA की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि वरिष्ठ नागरिकों की बैक साइड अटेंडेंट और देखभाल सेवाओं को प्रतिबंधों से छूट दी गई है। 

इसके अलावा उन्होंने कहा कि प्रीपेड मोबाइल की रिचार्ज सेवाओं,शहरी क्षेत्रों में स्थित खाद्य प्रसंस्करण उद्योग जैसे मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट,ब्रेड फैक्ट्री, आटा मिलों को छूट प्राप्त है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के लिए शैक्षिक किताबों की दुकानों और गर्मी के मौसम को देखते हुए इलेक्ट्रिक पंखों की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है।

पर्यावरण सचिव और एमपॉवरड ग्रुप-2 के अध्यक्ष सी.के.मिश्रा ने बताया कि 23 मार्च को हमने पूरे देश में 14,915 टेस्ट किए थे, 22अप्रैल को हमने 5 लाख से ज्यादा टेस्ट किए हैं। ये 30 दिनों में 33गुना हैं। पर हमें ये पता है कि ये काफी नहीं है और हमें लगातार आगे बढ़ना है और देश में टेस्टिंग को बढ़ाना है। 

उन्होंने आगे कहा कि हम लगभग उसी जगह पर हैं जहां हम एक महीने पहले थे, मतलब स्थिति अभी बहुत बिगड़ी नहीं है। एक महीने पहले जो लोग टेस्ट हो रहे थे उनका लगभग 4-4.5 प्रतिशत पॉजिटिव निकले थे और अभी भी लगभग यही स्थिति है।

कोरोना से जंग : Full Coverage





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *