दस्यु सम्राट की भूमिका में जान डालने वाले इरफान की कहानी, पान सिंह तोमर के भतीजे बलवंत की जुबानी
Life Style Madhya Pradesh

दस्यु सम्राट की भूमिका में जान डालने वाले इरफान की कहानी, पान सिंह तोमर के भतीजे बलवंत की जुबानी

भोपाल। मशहूर अभिनेता इरफान खान के निधन पर चंबंल के डाकुओं पर बनी उनकी फिल्म पान सिंह तोमर की भी चर्चा हो रही है। वैसे तो इरफान ने हिंदी फिल्म उद्योग में अपने काम के बूते लगभग हर तरह की भूमिकाओं में छाप छोड़ी लेकिन दस्यु पान सिंह तोमर (पवन सिंह तोमर) के जीवन पर बनी फिल्म उनकी अभिनीत शानदार फिल्मों में से एक थी। जिस एनकाउंटर में पान सिंह के लगभग पूरे गैंग का सफाया हो गया था, उस वक्त उनके भतीजे बलवंत के साथ थे। बलवंत दस्यु सम्राट पान सिंह के सिर्फ रिश्तेदार नहीं बल्कि भरोसेमंद सहयोगी के तौर पर धारणाएँ जाते थे। सिर्फ वही कि एनकाउंटर में मुश्किल से जिंदा बच पाए गए। जब इरफान पहली बार उनसे मिले तो एक रिश्तेदार संजय चौहान और तिगमांशु धूलिया के साथ मिले थे।

इरफान की कमिटमेंट देखकर हुई हैरानी

न्यूज 18 से बात करते हुए बलवंत ने बताया कि उन्होंने बताया कि पान सिंह पर कोई फिल्म बनाना चाहता है और इसके लिए पूरी कहानी उन्हें बताना होगी। बलवंत का दावा है कि साथियों की सारी कहानी उन्होंने ही सुनी थी। सारा जीवन बीहड़ों में भक्तने वाले एक डाकू को भला इरफान की अभिनय क्षमता केवल समझने के कारण ही समझ में आता है। वे बताते हैं कि बहुत ‘हल्के में’ उन्होंने उस वक्त इरफान को लिया था। बाद में जब शूटिंग शुरू हुई तो उन्हें इरफान की कमिटमेंट देखकर हसरत हुई। वे कहते हैं कि ‘वो ऐसी बड़ी-बड़ी चढ़ाई से कूद जाते थे, शरीर की चोटों के बिना डरे पुलिस से बचने के सीन में कई मीटर लुढ़क जाते थे, तो लगा कि ये एक्टर तो बहुत मेहनत करते हैं।’ इरफान ने बहुत कम वक्त में ही चंबल की बोली सीख ली थी, यह भी बलवंत के लिए इरफान के प्रति उदासीनता की वजह थी।

बेटे से नहीं, बल्कि बलवंत से ही लेते थे इरफान टिप्स
उनका दावा है कि फिल्म की पूरी शूटिंग के दौरान वे साथ रहे हैं। इरफान पान सिंह के बारे में बजाय उनके बेटे के, बलवंत से ही टिप्स लेते थे। वास्तव में, इस फिल्म की शूटिंग बीहड़ों में आसान नहीं थी। जब जा शूटिंग चल रही थी, तब भी चंबल में कई छोटे-बड़े डकैत समूह सक्रिय थे। संभव था कि वो यूनिट के लोगों के लिए मुश्किलें खड़ी करते थे लेकिन चूंकि बलवंत यूनिट के साथ थे, लिहाजा कोई दस्यु घटनाक्रम यूनिट का कुछ नहीं बिगाड़ पाया। बलवंत इस वक्त गोवलियर में रह रहे हैं। फिल्म बनने के बाद उनका पैसों के लेन-देन को लेकर तिग्मांशु धूलिया के साथ कुछ मनमुटाव भी हुआ। इरफान के यूं चले जाने से बलवंत भी बहुत दुखी हैं और कह रहे हैं कि एक अच्छा इंसान चला गया।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *