चीनी फाइटर प्लेन को ताइवान ने खदेड़ा, साउथ चाइना सी में बढ़ाई हवाई गश्त – taiwan jets drive away intruding chinese fighter plane
Update

चीनी फाइटर प्लेन को ताइवान ने खदेड़ा, साउथ चाइना सी में बढ़ाई हवाई गश्त

भारत चीन तनाव के बीच ताइवान ने अपने हवाई क्षेत्र में घुसे चीनी फाइटर प्लेन को सबक सिखाते हुए मीलों दूर खदेड़ दिया। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि पहले चीनी फाइटर प्लेन को रेडियो के जरिए चेतावनी दी गई। जब प्लेन ने इसे अनसुना किया तब ताइवानी लड़ाकू विमानों ने उड़ान भरकर जबरदस्ती उसे अपने हवाई क्षेत्र से मार भगाया।

ताइवानी लड़ाकू विमानों ने चीनी प्लेन को खदेड़ा

NBT

ताइवानी रक्षा मंत्रालय के अनुसार, पिछले हफ्ते भी चीनी वायुसेना के एसयू-30 लड़ाकू विमानों ने ताइवानी हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया था। जिसके बाद उन्हें चेतावनी देकर भगा दिया गया। हाल के दिनों में चीनी लड़ाकू विमानों के ताइवानी हवाई क्षेत्र में घुसने की वारदातों में तेजी देखने को मिली है।

ताइवान के मिसाइल परीक्षण के कुछ घंटे बाद हुई वारदात

NBT

ताइवान ने बताया कि वायुसीमा उल्लंघन की वारदात उस समय हुई जब वह कुछ घंटे पहले ही अपने पूर्वी तट पर एक मिसाइल का परीक्षण किया था। जिस विमान ने हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किया था उसकी पहचान रूसी जहाज की डिजाइन पर आधारित वाई-8 के रूप में की गई। इस जहाज को चीन निगरानी करने के लिए प्रयोग करता है।

क्यों है चीन और ताइवान में तनातनी

NBT

1949 में माओत्से तुंग के नेतृत्व में कम्युनिस्ट पार्टी ने चियांग काई शेक के नेतृत्व वाले कॉमिंगतांग सरकार का तख्तापलट कर दिया था। जिसके बाद चियांग काई शेक ने ताइवान द्वीप में जाकर अपनी सरकार का गठन किया। उस समय कम्यूनिस्ट पार्टी के पास मजबूत नौसेना नहीं थी। इसलिए उन्होंने समुद्र पार कर इस द्वीप पर अधिकार नहीं किया। तब से ताइवान खुद को रिपब्लिक ऑफ चाइना मानता है।

ताइवान को अपना हिस्सा मानता है चीन

NBT

चीन ताइवान को अपना अभिन्न अंग मानता है। चीनी कम्यूनिस्ट पार्टी इसके लिए सेना के इस्तेमाल पर भी जोर देती आई है। ताइवान के पास अपनी खुद की सेना भी है। जिसे अमेरिका का समर्थन भी प्राप्त है। हालांकि ताइवान में जबसे डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी सत्ता में आई है तबसे चीन के साथ संबंध खराब हुए हैं।

bharatsamachar.tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। खबर सबसे पहले देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें ब्रेकिंग सेक्‍शन

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *